सद्गुरु (sadhguru) के साथ सनातन धर्म और भारतीय आध्यात्मिकता(Spirituality): ANI पॉडकास्ट में स्मिता प्रकाश के साथ संवाद

जगदीश वासुदेव, ईशा फाउंडेशन के संस्थापक और जिन्हें दुनिया भर में उनके लाखों अनुयायियों और प्रशंसकों द्वारा ‘सद्गुरु'(sadhguru) के नाम से जाना जाता है, एक जटिल व्यक्तित्व हैं जिन्होंने योगी के बारे में बनी रूढ़ियों को तोड़ा है। सद्गुरु कई भूमिकाओं में नजर आते हैं, जिनमें योग गुरु, रहस्यवादी, परोपकारी, लेखक और पॉडकास्टर शामिल हैं। उन्होंने इस गलत धारणा को दूर किया है कि योगी को ध्यान लगाने के लिए गुफा में रहना चाहिए, बल्कि वह गाते हैं, नाचते हैं, बाइक चलाते हैं और “सेव द सोइल” जैसे मानवीय कार्यों के लिए वाहन चलाते हैं। आध्यात्मिकता और मानवीय सेवाओं में योगदान के लिए सद्गुरु को 2017 में भारत के दूसरे सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार, पद्म विभूषण से भी सम्मानित किया गया था।

मुख्य बातें:

सद्गुरु ने योगी की रूढ़ी छवि(stereotype) को तोड़ा: वे एक योग गुरु, रहस्यवादी,(mystic) परोपकारी, (philanthropist)लेखक और पॉडकास्टर हैं जो सक्रिय रूप से दुनिया से जुड़े हैं।

सद्गुरु की आध्यात्मिक जागृति: (awakening) एक जीवन बदलने वाला अनुभव उन्हें योग और आध्यात्मिकता को खोजने की ओर ले गया।

बेहतर जीवन के लिए आंतरिक इंजीनियरिंग(Inner Engineering): सद्गुरु अपने जीवन को बेहतर बनाने के लिए आंतरिक बुद्धि को जगाने पर जोर देते हैं।

ग्रह (Planet) की रक्षा करना: “सेव द सोइल”(“Save The Soil”) जैसे पर्यावरणीय कार्य सद्गुरु के काम का एक और पहलू हैं।

सद्गुरु के साथ सनातन धर्म और भारतीय आध्यात्मिकता: ANI पॉडकास्ट में स्मिता प्रकाश के साथ संवाद

मृत्यु का सामना करना और परमानंद (Ecstatic) अनुभव: पॉडकास्ट मृत्यु के भय पर विजय प्राप्त करने और चेतना की उच्चतर अवस्थाओं को प्राप्त करने की बात करता है।

ईशा फाउंडेशन (Isha Foundation) से जुड़े विवाद: सद्गुरु ईशा फाउंडेशन के आसपास की आलोचनाओं का जवाब देते हैं।

सनातन धर्म और भविष्य: यह वार्तालाप प्राचीन भारतीय दर्शन और आज इसकी प्रासंगिकता पर विचार करती है।

“सचेत ग्रह” (Conscious Planet) आंदोलन: सद्गुरु अधिक जागरूक दुनिया बनाने की अपनी पहल पर चर्चा करते हैं।

मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य को समझना: पॉडकास्ट स्वास्थ्य के इन दो पहलुओं के बीच के संबंध की पड़ताल करता है।

Share this post:

बीके शिवानी (BK Shivani)- ईश्वर, जीवन, प्रेम, रिश्ता और आध्यात्मिकता | द रणवीर शो (The Ranveer Show)

दर्शकों का स्वागत है एक प्रमुख आध्यात्मिक नेता और सबकी पसंदीदा बीके शिवानी, जिन्हें हम सब सिस्टर शिवानी के नाम से जानते हैं, से द रणवीर शो के 188वें एपिसोड में हिंदी में। सिस्टर शिवानी ने कई सालों से ब्रह्मा कुमारी आध्यात्मिक आंदोलन का हिस्सा रहते हुए, अपने YouTube चैनल BKShivani के जरिए लोगों की आध्यात्मिक यात्रा में मदद की है।

मुख्य बातें:

ॐ शांति का मतलब (Meaning of Om Shanti): बीके शिवानी समझाती हैं कि “ॐ शांति” का अर्थ शांति और हमारे सच्चे स्वभाव का सार है, जो आंतरिक शांति को बढ़ावा देता है।

आत्मा की शक्ति (Soul Power)

आत्मा की शक्ति का मतलब (Meaning of Soul Power): आत्मा की शक्ति की अवधारणा को एक आंतरिक शक्ति के रूप में समझाया जाता है जो आध्यात्मिक जागरूकता और संबंध से प्राप्त होती है।

नई पीढ़ी में अवसाद (Why New Generation Is Depressed): इस चर्चा में नई पीढ़ी में बढ़ते अवसाद के कारणों का पता लगाया गया है, जिसमें समाजिक दबाव और आध्यात्मिक आधार की कमी शामिल है।

भावनात्मक स्वास्थ्य में सुधार (How To Improve Your Emotional Health): भावनात्मक स्वास्थ्य में सुधार के लिए व्यावहारिक सुझाव दिए गए हैं, जैसे कि ध्यान, मेडिटेशन और सकारात्मक सोच।

मीडिया का प्रभाव (How Media Controls You): चर्चा में बताया गया है कि मीडिया कैसे विचारों और भावनाओं को प्रभावित कर सकता है, और सचेत उपभोग की आवश्यकता पर बल दिया गया है।

भविष्य की दुनिया की दृष्टि (Future की दुनिया कैसी होगी?) : भविष्य के बारे में भविष्यवाणियाँ और अंतर्दृष्टियाँ साझा की जाती हैं, जिसमें आध्यात्मिकता की भूमिका को बेहतर दुनिया के निर्माण में महत्वपूर्ण बताया गया है।

पर्यावरण संरक्षण (What Can You Do To Save The Environment?): बीके शिवानी ने पर्यावरण संरक्षण में योगदान करने के तरीकों का सुझाव दिया है, जैसे कि जागरूक जीवन और सतत प्रथाएँ।

राजयोग ध्यान और उसके फायदे (Rajyoga Meditation and its benefits): राजयोग मेडिटेशन के लाभों पर चर्चा की गई है, जिसमें मानसिक स्पष्टता, भावनात्मक संतुलन और आध्यात्मिक विकास शामिल हैं।

बीके शिवानी (BK Shivani)- ईश्वर, जीवन, प्रेम, रिश्ता और आध्यात्मिकता | द रणवीर शो (The Ranveer Show)

महिला आध्यात्मिक नेताओं की भूमिका (Women Spiritual Leaders): महिला आध्यात्मिक नेताओं के महत्व और प्रभाव को पहचाना और मनाया गया है।

क्या महिलाओं के लिए ब्रह्मचर्य का पालन करना गलत है? (Is Practicing Celibacy Wrong For Females?): पॉडकास्ट में ब्रह्मचर्य के बारे में गलत धारणाओं का समाधान किया गया है, विशेष रूप से महिलाओं के लिए, और इसके आध्यात्मिक लाभ बताए गए हैं।

कर्म की समझ (How Karma Works): जीवन की घटनाओं और व्यक्तिगत विकास को प्रभावित करने वाले कर्म की समझ दी गई है।

ब्रह्मचर्य के फायदे (Benefits of Celibacy Practice): ब्रह्मचर्य का अभ्यास करने के आध्यात्मिक और भावनात्मक लाभों को विस्तार से बताया गया है।

आध्यात्मिक अंतरंगता की अवधारणा क्या है? (What is Spiritual Intimacy ): बीके शिवानी आध्यात्मिक अंतरंगता के बारे में बात करती हैं, जो शारीरिक संबंधों से परे है और गहरे आत्मा संबंधों पर केंद्रित है।

रिश्तों की गतिशीलता (What Makes/Breaks A Relationship?): रिश्तों को मजबूत या कमजोर करने वाले कारकों पर अंतर्दृष्टियाँ साझा की गई हैं, जिसमें विश्वास, संचार और आध्यात्मिक संरेखण पर जोर दिया गया है।

व्यक्तिगत आध्यात्मिक यात्रा (BK Sister Shares Her Spiritual Life): बीके शिवानी अपनी व्यक्तिगत अनुभवों और आध्यात्मिक प्रबोधन की यात्रा साझा करती हैं।

नास्तिकता में गिरावट (Is Atheism Declining?): पॉडकास्ट में नास्तिकता में गिरावट और आध्यात्मिकता में बढ़ती रुचि के रुझान पर चर्चा की गई है।

अनुभवात्मक आध्यात्मिकता क्या होती है (Is Spirituality Experience Based?): व्यक्तिगत आध्यात्मिक अनुभवों के महत्व को समझने और अभ्यास करने में प्रमुख बताया गया है।

बीके सिस्टर की जीवन यात्रा (Life Journey of BK Sister): बीके शिवानी की जीवन यात्रा का अवलोकन, जिसमें उनके चुनौतियों और आध्यात्मिक मील के पत्थर शामिल हैं।

जीवन में योजना की आवश्यकता (Life Planning important ?): जीवन के लक्ष्यों को प्राप्त करने और संतुलन बनाए रखने में योजना की भूमिका पर चर्चा की गई है।

भगवान से क्या माँगना चाहिए? (What should one ask from God?): बीके शिवानी भगवान से क्या और कैसे मांगना चाहिए, इस पर सलाह देती हैं, जिसमें आंतरिक शांति और आध्यात्मिक विकास पर ध्यान दिया गया है।

Share this post: